स्वयं सहायता समूह का एक दिवसीय वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन

हनुमानगढ़। नगरपरिषद हनुमानगढ़ के तत्वाधान में  दीनदयाल उपाध्याय अंतोद्य योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना में शहरी स्मृद्धि योजना के अंतर्गत 31 स्वयं सहायता समूह के साथ एक दिवसीय वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन जंक्शन स्थित नगरपरिषद उप कार्यालय में
किया गया। शिविर में नगरपरिषद उपसभापति नगीना बाई, आयुक्त शैलेन्द्र
गोदारा ने महिला सशक्तिकरण के बारे में हुए कहा कि महिलाए वित्त प्रबंध
में माहिर होती हैं, उन्हें महज प्राथमिकताएं तय करने की जरूरत है। जिससे
वह गरीबी रेखा से उपर उठ सकें, उपसभापति नगीना बाई ने बताया कि स्वयं
सहायता समूह गरीबी से उभरने का अच्छा प्लेटफार्म है। इस अवसर पर नाबार्ड के संजय मान्धाता ने एसएचजी की महिलाओं के नियममित मिटिंग तथा पंचसूत्र का पालन करने के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जो एसएचजी पंचसूत्र का पालन करता है वह एक अच्छा समूह माना जाता है।इसके अलावा उन्होंने आंतरिक ऋण के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर ओम प्रकाश वधवा व एसबीबीजे के एलडीएम बीएल मीणा ने वित्तीय साक्षरता के बारे में जानकारी देते हुए एचएसजी पदाधिकारियों को वित्तीय साक्षरता का अर्थ बताते हुए कहा कि पूंजी का उचित लेखा-जोखा कैसे रखा  जाए व कम आय होने पर भी अपने परिवार का खर्चा किस प्रकार से संचालित किया जाये, इसी को वित्तीय साक्षरता कहतें है। इस अवसर पर महिलाओं द्वारा वित्तीय साक्षरता को लेकर एक रैली निकाली गई, रैली को आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा तथा उपसभापति नगीना बाई ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान योजना के सोशियल डवल्पमेंट मैनेजर सुरेन्द्र तंवर, स्किल एंड माईक्रोइंटर प्राईजेज मैनेजर सुरेन्द्र सिंह चारण, एमआईएस मैनेजर उम्मेद सिंह, तिलक मैमोरियल पब्लिक शिक्षा समिति एंव रूरल डवल्पमेंट संस्थान हनुमानगढ़ के संस्थापक पवन शर्मा, विक्रम सिंह शेखावत, दौलत राम, हंसराज आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *